B.Com Details – Course, Salary, Duration, Syllabus And Colleges

B.Com Details – Course, Salary, Duration, Syllabus And Colleges :-बीकॉम अभी के सामने में बहुत लोकप्रिय कोर्स माना जाता है जो बच्चा कॉमर्स करता है वह ग्रेजुएट होने के लिए बीकॉम कोर्स करता है अगर आप कॉमर्स के द्वारा अपनी शिक्षा की पढ़ाई करते हैं और उसके बाद अपनी ग्रेजुएशन पूरी करना चाहते हैं तो हर स्टूडेंट ज्यादातर बीकॉम को ही चुनते है हैं
अगर हम आपको बताए तो बीकॉम ज्यादा तर वे बच्चे चुनते है जो बच्चे अपना बिज़नेस स्थापित करने का सपना देखते है या ,बीकॉम के लिए शैक्षणिक योग्यता।फिर और किसी को बिज़नेस फील्ड में जॉब करियर बनाने की सोचते है।

आज हम आपको बीकॉम से जुड़ी सारी बातें बताएंगे की :- B.Com क्या है, बी.कॉम कोर्स कैसे करे, बी कॉम फुल फॉर्म क्या है, बीकॉम के लिए शैक्षणिक योग्यता, बी कॉम सब्जेक्ट नाम, बीकॉम की फीस कितनी है, बीकॉम के बाद क्या करे, बीकॉम के बाद क्या करे, बीकॉम के लिये बेस्ट कॉलेज इन इंडिया।

 

B.com क्या है – B.com kya hai?

 

B.COM का मतलब हो ता है बैचलर ऑफ़ कॉमर्स इस को एक अंडर ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स माना जाता है इस कोर्स को कॉमर्स के बच्चे ज्यादा करते हैं क्योंकि उन्हें एकाउंटिंग कोर्स, बैंकिंग, फाइनेंस, तथा इनकम टैक्स, बिज़नेस, सम्बंधित पाठ पढ़ाया जाता है और यह सब सब्जेक्ट को 11वीं और 12वीं में पढ़ लेते हैं बस B.COM में जाकर इनका थोड़ा लेवल और बढ़ जाता है तो इसलिए उनके समाज में अच्छे से आता है वैसे तो इस कोर्स को और भी स्ट्रीम के छात्र भी चुनते हैं पर ज्यादातर इसके अंदर कॉमर्स के ही छात्र मिलते हैं

जो छात्र बीकॉम कोर्स कंप्लीट कर लेता है उसको ग्रेजुएट माना जाता है जो छात्र बीकॉम कोर्स को पूरा कर लेता है अगर वह चाहे तो इसी फील्ड में अपनी मास्टर डिग्री भी प्राप्त कर सकता है और उसको हम कहते हैं हमको एमकॉम का मतलब होता है मास्टर कॉमर्स।

यह बीकॉम कोर्स 3 साल का होता है इसके अंदर 6 सेमेस्टर होते हैं और हर सेमेस्टर में आपको एक एग्जाम से होकर गुजरने पड़ता है जब आप उस सेमेस्टर के एग्जाम से पास हो जाते हैं उसके बाद आपको अगले सेमेस्टर में प्रमोट किया जाता है

 

B.com Full Form

 

B.com की फुल फॉर्म इन इंग्लिश (Bachelor of Commerce) होती है

B.com full form in hindi. (वाणिज्य में स्नातक) करना होती है

 

B.Com  Syllabus

 

वैसे आप जिस यूनिवर्सिटी या कॉलेज में जायगे वहां पर आपको बीकॉम के अलग-अलग सब्जेक्ट देखने के लिए मिलेंगे क्योंकि कुछ यूनिवर्सिटी किसी सब्जेक्ट को प्रेफरेंस देती है और कुछ को नहीं तो इसीलिए हर यूनिवर्सिटी में सब्जेक्ट अलग-अलग होते हैं \

पर अगर हम किसी एक कॉलेज को पकड़कर उसकी सब्जेक्ट आपको बताए तो वह हमने आपको नीचे दिए आपको जो भी सब्जेक्ट होंगे वो इन्हीं से रिलेटेड होंगे कुछ ऊपर-नीचे हो सकते हैं पर हमेशा यही सब्जेक्ट में से आपके सब्जेक्ट चुने जाते हैं
आप जब किसी यूनिवर्सिटी या कॉलेज में एडमिशन के लिए जाएं तो आप उसके सब्जेक्ट जरूर चेक करें अन्यथा कभी-कभी हो जाता है कि जिस सब्जेक्ट में मैं आप पढ़ना चाहते हैं उस सब्जेक्ट को वह कॉलेज प्रोवाइड ही नहीं करता।

 

B.Com  Subject name

 

Economics
financial Accounting
English
Hindi
trade regulator
Business and Management Practices
communication

और हां जैसे जैसे अपनी सिस्टर को पार करते जाते हैं तो आपके सब्जेक्ट में भी परिवर्तन होता रहता है

 

B.com कैसे करे

अब तो आपको पता लग गया होगा की अगर आपको B.com में एडमिशन लेना है तो आप को 12th पास होना जरूरी है उसके बाद ही आप B.com में एडमिशन ले सकते हो और फिर आप सोच सकते हो मुझे बीकॉम कैसे करती है।

बीकॉम करने के लिए आपको सबसे पहले 12th पास करनी होगी और 12th क्लास Commers और साइंस स्ट्रीम दोनों में से किसी से भी कर सकते हैं और अगर आपकी 12th पास हो जाती है तो फिर आप बीकॉम फॉर्म के लिए अप्लाई कर सकते हैं

अगर आपको अपने करियर को बीकॉम में ही बनाना है तो आपको हमारे अंदाज से बीकॉम में रेगुलर पढ़ाई करनी चाहिए क्योंकि बहुत से बच्चे बीकॉम को ओपन सोर्स करते हैं जिससे कि उनको बहुत नुकसान उठाना पड़ता है।
हमारी मानी तो आप सबसे पहले अपने कहीं नजदीक में ही बीकॉम कॉलेजों देखे ताकि आप वहां से रेगुलर हो सके अगर आपको कॉलेज नहीं मिलता है तो आप ऐसा कॉलेज ढूंढे जहां आप हॉस्टल में रह सके क्योंकि अगर आप ऐसा करते हैं तो आप अच्छी पढ़ाई कर पाएंगे और एक अच्छे मुकाम तक पहुंच पाएंगे। क्योंकि बीकॉम के अंदर बहुत ही कठिन सब्जेक्ट होते हैं जिनकी आपको रेगुलर पढ़ाई करनी होगी जैसे एकाउंटिंग और फाइनेंस आदि।

अगर आप किसी सरकारी कॉलेज में बीकॉम में एडमिशन लेने के लिए सोच रहे हैं तो आपको एक एंट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना पड़ेगा और उस एंट्रेंस एग्जाम को वहीं छात्र दे सकता है जिसने 11वीं और 12वीं में अच्छे से एकाउंटिंग और मैथ पड़ी होगी क्योंकि उसके अंदर जो एंट्रेंस एग्जाम होता है वह 11वीं और 12वीं से कॉमर्स रिलेटेड क्वेश्चन आते हैं और उस को वह छात्र ही अच्छे से पार कर पाएगा जिसने 11वीं 12वीं अच्छे से पढ़ी होंगी।
और उन एंट्रेंस एग्जाम के नाम है :- NPAT, IPU CET, AIMA UGAT, SAUT, BHU UET

 

B.com Entrance Exam Syllabus

Mathematics
Verbal and Local Reasoning
current affair
accountancy
basic computer questions
business studies

 

B.com Educational Qualification

 

अगर हम बीकॉम में शिक्षा योगिता की बात करें तो आप सबसे पहले 12th पास होने चाहिए और उसके अंदर भी कॉमर्स और साइंस के अंदर PCB और PCM होनी चाहिए और मिनिमम आपके चाहे आप साइंस में हो या कॉमर्स में आप के 50% मार्क्स तक होनी चाहिए तो तभी आप अच्छे कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

 

Scope of work after B.Com:-

 

marketing company
Bank
business consulting agency
Industrial Area
foreign trade center
for teachers in colleges
public accounting firm

 

B.com Job Type

 

Chief Financial Officer
Auditor
Stock Broker
Teacher
budget analyst
business consultant
cost estimator
certified Public Accountant
Finance Manager

 

Top Collages India for B.Com

वैसे आप इस कोर्स को अपने क्षेत्र के किसी कॉमर्स बैक्ग्राउण्ड के कॉलेज मे भी कर सकते है यदि वहाँ यह कोर्स उपलब्ध हो तो लेकिन यदि आप इंडिया के टॉप महाविद्यालयो से यह कोर्स करना चाहते है तो यह कुछ टॉप कॉलेज है जहां से आप अपनी डिग्री कोर्स कर सकते है |

 

Lucknow University Lucknow
NIMS University Jaipur
BBD University Lucknow
Nizam College Hyderabad
Hans Raj College New Delhi
Garden City University Bangalore
University of Rajasthan Jaipur
Shri Ram College of Commerce New Delhi
Jain University Bangalore
Chandigarh University Chandigarh
Narsee Monjee College Of Commerce Maharashtra
Delhi University Delhi
Mohanlal Sukhadia University Udaipur
Vinoba Bhave University Hazaribagh

 

B.com की Fees कितनी है?

 

 

B.com salary in India

 

Leave a Comment