P C S Full Form | PCS Exam के बारे में संपूर्ण जानकारी

जल्दी जानकारी क्या मिलेगा ? इस पेज पर आप को – पीसीएस क्या है? PCS Officer कैसे बने? PCS Full Form, Qualification, Admission Process, Career, Salary, Syllabus, Fees, Entrance Exam, Scope की पूरी जानकारी हिंदी में।

 

PCS का Full Form क्या है | What is PCS Full form

सबसे पहले आपको पीसीएस की फुल फॉर्म के बारे में बताएं तो हमने आपको Table के अंदर आसिनी से बता दिया है  PCS full form in English और PCS full form in Hindi .

 

संक्षेपाक्षर (Abbreviation) Full form
PCS full form in English Provincial Civil Services
PCS full form in Hindi प्रांतीय सिविल सेवा।

 

अगर आप पीसीएस एग्जाम की तैयारी कर रहे है तो हमारे हिसाब से आपने एक ना एक बार जरूर कोई से एग्जाम के अंदर पार्टिसिपेट कर लिया होगा उसे आपको भली भांति यह तो अंदाजा लग गया होगा कि एक एग्जाम को देने से पहले उस एग्जाम के बारे में पूरी जानकारी होना कितना प्रभावी है अगर यह जानकारी अधूरी हो और आपकी एग्जाम की तैयारी पूरी हो तो जब भी आप कही न कही नौकरी पाने चूक जाते हो और यह होता आप को एग्जाम की पूरी जानकी न हो ना। अगर एक छात्र अपने एग्जाम में पूरी मेहनत से तैयारी करता है और वह कहीं ना कहीं इस बात से चूक जाता है कि उसे एग्जाम की पूरी अच्छी तरीके से जानकारी नहीं थी और ना ही उसे कोई निर्देश देने वाला था इसीलिए वह रह गया तो अपने आप पर बहुत पछतावा होता है तो इसी कमी को पूरा करने के लिए हम आपके लिए पीसीएस एग्जाम पूरी जानकारी लेता है।

 

PCS क्या है?

हम आपको बता दें पीसीएस परीक्षा राज्य द्वारा आयोजित कराई जाती है जिसके अंदर सारी कार्यवाही राज्य स्तर पर ही करी जाती है और वहीं से पीसीएस के अधिकारियों का चयन होता है और जो अभ्यर्थी इस परीक्षा को पास कर लेता है उसको अलग अलग राज्य स्तर नियुक्त किया जाता है और वह इस प्रकार है SDM, DSP, ARTO, BDO, District Minority Officer, District Food Marketing Officer, Assistant Commissioner, Business Tax Officer.

सभी PCS अधिकारी राज्य के बनाए हुए कानून पर काम करते हैं और अगर हम राज्य के द्वारा दी जाने वाली सेवाओं की बात करें तो पीसीएस अधिकारी को एक सहायक अधिकारी भी प्रदान किया जाता है जो उसकी समय – समय पर मदद करता रहता है कहीं-कहीं इसको पिए के नाम से भी जाना जाता है और उनको एक गाड़ी मिलती है एक flat मिलता है और अन्य सुविधा दी जाती है।

और इसी के साथ हम आपको बता दें पीसीएस परीक्षा को हर राज्य में अलग-अलग नाम से बुलाया जाता है जैसे कि :-

 

स्टेट State PCS Exam Name in State 
बिहार BPSC
उत्तर प्रदेश UPSC
राजस्थान RPSC
उत्तराखंड UKPSC
पंजाब PPSC

 

PCS Officer job profile

अगर हम किसी PCS अधिकारी के Work की बात करें तो वह राज्य स्तर पर हर सेवाओं के देखने के लिए होता है कि जो सरकार में पब्लिक के लिए नए नियम निकाले हैं क्या पब्लिक उन नियमों का पालन कर रही है या नहीं इस बात की रिपोर्ट पीसीएस अधिकारी सरकार को देता है।

अगर हम बात करें तो अगर उसके राज्य में कुछ गलत घटित हो रहा है वह अपने द्वारा भी कुछ नियम बना सकता है और और अपने राज्य को बेहतर दिशा दे सकता है। और भी पीसीएस अधिकारी के बहुत से काम होते हैं वो निर्भर करता है वह पीसीएस अधिकारी किस आयोग में नियुक्त किया गया है।

 

PCS Officer Salary

जैसा कि हमने बताया हर पीसीएस अधिकारी अपने काम के लिए अलग-अलग जगह पर नियुक्त किया जाता है इसी तरह अगर हम PCS अधिकारी की सैलरी की बात करें तो वह भी हर जॉब प्रोफाइल के लिए अलग-अलग होती है अगर हम आईपीएस अधिकारी को लगने से पहले बेसिक सैलरी की बात करें तो वह ₹56100 से लेकर ₹132000 तक हो सकती है और वह हर महीने उसके काम और ईमानदारी को देखकर बढ़ती रहती है।

 

पीसीएस परीक्षा के लिए योग्यता 

अब PCS परीक्षा एक राज्य स्तर की परीक्षा मानी जाती है जो की अपने आप में एक बहुत बड़ी परीक्षा है उसके लिए राज्य सरकार ने कुछ योग्यताएं यानी डिग्रियों को नियुक्त किया अगर जो व्यक्ति PCS परीक्षा देना चाहे उसके पास यह डिग्री होनी चाहिए अगर ऐसा नहीं है तो वह परीक्षा में नहीं बैठ सकता।

  • पीसीएस परीक्षा में बैठने के लिए आपके पास किसी भी यूनिवर्सिटी या Collage से मान्यता प्राप्त ग्रेजुएशन की डिग्री होनी अनिवार्य है।
  • जो विद्यार्थी पीसीएस एग्जाम में बैठने जा रहा है उसके पास भारत की नागरिकता होनी चाहिए अगर उसके पास भारत की नागरिकता नहीं है तो वह एग्जाम में नहीं बैठ सकता है।
  • और आप यह जानते ही हैं जिस Field में आप अच्छे हैं और उसी Field में आप PCS नौकरी पाना चाहते हो तो आपके पास Field की ग्रेजुएशन डिग्री भी होनी चाहिए। आप वह field कुछ भी हो सकती है।

 

Age Limit PCS Exam के लिये

जैसा आप जानते हैं हमारा भारत विभिन्न जातियों का देश है जिसमें अलग-अलग प्रकार की जातियों के लोग रहते हैं उसी तरह यह कठिन हो जाता है किस को किस प्रकार से छूट देनी है तो इसीलिए सरकार ने अलग-अलग जाती वर्ग के लिये हैं कुछ छूट प्रदान की है जो कि इस प्रकार है।

  1. सामान्य वर्ग यानि gernal cetegry के अभ्यर्थियों के लिए 21 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक आयु सीमा होती है।
  2. अन्य पिछड़ा वर्ग यानि OBC के अभ्यर्थियों के लिए उम्र में 3 साल दी जाती है।
  3. SC और ST वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए उम्र में 5 साल की छूट दी जाती है।
  4. दिव्यांगजन वाले अभ्यर्थियों को उम्र में 15 साल की छूट दी जाती है।
  5. खिलाड़ी और राज्य के सरकारी कर्मचारियों को 5 साल की छूट दी जाती है।

 

PCS Exam Patter – 2021

आपने अब पीसीएस एग्जाम के बारे में इतनी सारी जानकारी प्राप्त कर ली कर ली है अब आप थोड़ी नजर पीसीएस एग्जाम पैटर्न के ऊपर भी डाल लिजिए यह तो आप जानते ही होंगे कि किसी भी एग्जाम को crack करने के लिए उसके एग्जाम पैटर्न को समझना बहुत ही आवश्यक होता है उससे हमारी बहुत सी परेशानियां दूर हो जाती है कि किस तरीके का पैटर्न आएगा क्या क्या Question पूछे जाएंगे और हम को किस सब्जेक्ट में से कितना पढ़ना है और कौन सा सब्जेक्ट कितना स्कोर है यह सब बात हमें उस एग्जाम के पैटर्न को देखकर पता चलती है।

 

PCS Exam कुल तीन चरण होते हैं

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination)
  • मुख्य परीक्षा (Mains Examination)
  • साक्षात्कार (Interview)

 

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination)

  1. Preliminary Examination को (Pre- Exam) भी कहा जाता है इसके अंदर दो पेपर कराए जाते हैं।
  2. पहला paper Civil Service Aptitude Test (CSAT) जिस में इतिहास, भूगोल और अर्थशास्त्र, राजनीति शास्त्र विज्ञान तथा अन्य सभी सामान्य ज्ञान विषय पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं।
  3. Civil Service Aptitude Test (CSAT) के अंदर 80 questions आयेंगे 200 marks का हो ते है।
  4. दूसरा paper General study का जिसमें रिजनिंग, गणित, हिंदी और अंग्रेजी आदि विषयों के प्रश्न पूछे जाते हैं।
  5. General study में 100 questions आएंगे जो 200 marks के होते है।
  6. दोनों PCS परीक्षाओं में समय 2 घंटे का होता है।

 

मुख्य परीक्षा (Mains Examination)

 

SN. NO. अनिवार्य विषय (COMPULSORY SUBJECT) वैकल्पिक विषय (OPTIONAL SUBJECT)
01 सामान्य अध्ययन प्रथम प्रश्न पत्र (General study First Paper) हिंदी (Hindi)
02 सामान्य ज्ञान द्वितीय प्रश्न पत्र (General Study Second Paper अंग्रेज़ी (English)
03 सामान्य हिंदी अथवा अंग्रेजी (General Hindi or English) इतिहास (History)
04 निबंध लेखन (Essay Writing) सामान्य विज्ञान (General Science)
05 वर्तमान घटनाएं (Current Affairs)
06 भूगोल (Geography)
07 विज्ञान (Science)
08 भारतीय राजनीति और शासन (Political Science)
09 पर्यावरण पारिस्थितिकी के सामान्य मुद्दे (Environment)
10 आर्थिक और सामाजिक विकास (Sociology)

 

साक्षात्कार (Interview)

आप साक्षात्कार को देखकर यह समझ रहे होंगे कि इसके बाद इंटरव्यू होता है वो तो हो ही जाएगा, पर आप को इंटरव्यू देने से पहले ऊपर की दो परीक्षा में उत्तीर्ण हो ना पड़ता है। उसके बाद आप को साक्षात्कार के लिये बुलाया जाता है। साक्षात्कार कुल 200 अंक का होता है। पर अब आप यह मत समझना आपका दो परीक्षा देने के बाद काम पूरा हो गया पर हम मानते है आप का तीसरा level ही सब से कठिन level होता है। जिसमें सामान्य जागरूकता, चरित्र, अभिव्यक्ति शक्ति और व्यक्तित्व से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है और इस के बाद अभ्यर्थियों को उनके मेरिट के अनुसार नियुक्त कर लिया जाता है।

 

Leave a Comment